माँ तु बहुत याद आयी आज !

Kunal with his mother during World Cup 2019 game London!

माँ तु बहुत याद आयी आज ।।

इसलिए नहीं की सिर्फ़ पूरी कायनात तेरा अभिनंदन कर रही है आज? बल्कि इसलिए की मेरे मन के किसी कोने में जो दबे हुए दिन रखे थे वो अचानक जाग गए आज।

मेरी ज़बान पे अचानक वो अरबी की सब्ज़ी का ज़ायक़ा कही से आ गया जो तुम बनाया करती थी! हल्की सी हींग और थोड़ा सा गरम मसाला, उसकी ख़ुशबू में अब तक नहीं भुला।

वो दही वाले आलू की सब्ज़ी ओर घी की चुपड़ी रोटियाँ अब भी नज़र तो आती है, पर वो स्वाद नहीं आता ।

कभी कभी भिंडी की सब्ज़ी बनती है घर में तो लगता है कि सरसों के तेल की ख़ुशबू आएगी, पर वो अब नहीं है ।

कल मैंने बहुत कोशिश की और अरबी ढूँढ लाया बाज़ार से , काटा , उबाला और पैकेट वाले मसाले के साथ थोड़ा सा दही मिला के चोंखा।

पर जब चखा तो तेरे हाथ का ज़ायक़ा ग़ायब था। वो ख़ुशबू नदारद थी ! फिर फ़ोन पे तुझसे बात हुई तो लगा तेरी ममता की महक अब भी वैसी ही है ।

ऐसा क्यूँ नहीं होता की माँ तु सदा साथ रहे ।आज तुझसे ज़्यादा, तेरा यह रिश्ता बहुत याद आता है।

आज तुझसे ज़्यादा, तेरा यह रिश्ता बहुत याद आता है।

Happy Mother’s Day !

Hindi poetry

Kunal Jain View All →

Made in India, Serving Humanity, Living in Safety Harbor Florida, USA. Healthcare Entrepreneur. Author ”A Philanthropist Without Money” Driven by an inherent desire for knowledge and creative thinking, I harnessed my “Mid Life” energies to becoming a student again, challenging myself to take an executive course in ‘Global Healthcare Innovation’ from Harvard Business School and a Master’s degree in Entrepreneurship from the University of South Florida. Not satisfied with personal success alone, now I’m on a mission to help other aspiring entrepreneurs through mentoring, nurturing, raising funding, and connecting people with more possibilities.

3 Comments Leave a comment

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: